मयूरेश राऊत और इंस्पेक्टर राजकुमार कोथमिरे

अकेला

1-ये वही राजकुमार कोथमिरे हैं जिन्होंने एक व्यक्ति से ज़ब्त सबूत (चिप) को हत्या के आरोपी को बेच लिया। 2– ये वही राजकुमार कोथमिरे हैं जिनके खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए जेल से लिखे एक पत्र को क्रिमिनल रिट पिटीशन में तब्दील कर दिया। 3– ये वही राजकुमार कोथमिरे हैं जिनके गुनाह की सजा अतिरिक्त मुख्य (गृह) सचिव को 50,000 रुपये दंड के रूप में मिली। 4 -अब ये वही राजकुमार कोथमिरे हैं जिन्होंने एक बिल्डर को इन्क्वॉयरी के लिए बुलाया और उसकी दो लग्जरी कारें हड़प लीं। एक कार कोथमिरे खुद यूज़ करते हैं। 32 लाख रुपए कीमत की यह फॉर्च्यूनर कार कभी-कभार उनकी धर्मपत्नी भी शॉपिंग के लिए यूज़ कर लेती हैं।

जिस राजकुमार कोथमिरे के गुणों का इतना वर्णन यहां हो रहा है वे कल्याण में रहते हैं और इस वक़्त ठाणे हफ्ता विरोधी प्रकोष्ठ के वरिष्ठ निरीक्षक हैं। इस कहानी में एक कैरेक्टर और हैं राधेश्याम मोपलवार। आईएएस राधेश्याम मोपलवार तब महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास प्राधिकरण (एमएसआरडीसी) के चेयरमैन थे और भ्रष्टाचार में लिप्त पाए जाने पर उन्हें निलंबित कर दिया गया था।

पालघर जिले के विरार (पश्चिम) में रहने वाले मयूरेश राऊत (37) पेशे से बिल्डर हैं और उन्होंने राजकुमार कोथमिरे के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट और वसई कोर्ट में रिट पिटीशन दायर की है। प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री से लेकर देश के समस्त अधिकारियों से शिकायत की है कि राजकुमार कोथमिरे के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज करें।

घटना नवम्बर 2017 की है। राधेश्याम मोपलवार की शिकायत पर ठाणे हफ्ता विरोधी प्रकोष्ठ ने प्राइवेट डिटेक्टिव सतीश मांगले और उनकी पत्नी श्रद्धा मांगले को गिरफ्तार किया था। सतीश मांगले के मोबाइल फोन में जितने भी लोगों के नाम फीड थे कोथमिरे उन सबको बुलाकर इन्क्वॉयरी कर रहे थे। इसी क्रम में 9 नवम्बर 2017 को मयूरेश राऊत को भी पूछताछ के लिए बुलाया। राऊत की शिकायत है कि कोथमिरे ने राधेश्याम मोपलवार, उनकी पूर्व पत्नी मनीषा देशमुख और पुत्री तन्वी के सामने उनकी जबरदस्त (थर्ड डिग्री में) पिटाई की। यह इन्क्वॉयरी/पिटाई तीन दिन यानि 11 नवम्बर तक चलती रही।

मयूरेश राऊत कहते हैं कि कोथमिरे ने उनकी 28 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी भी अमित मिश्रा के नाम ट्रांसफर करवा ली। अमित मिश्रा मोपलवार का सीए है।

9 नवम्बर 2017 को ही राजकुमार कोथमिरे ने मयूरेश राऊत की दो लक्जरी कारें – टोयोटा फॉर्च्यूनर और मर्सिडीज़- जीएलएस- उठवा लीं। फॉर्च्यूनर की कीमत 32 लाख रुपये और मर्सिडीज़ की 1 करोड़ 5 लाख रुपये है। फॉर्च्यूनर (एमएच वी 3879) को खुद कोथमिरे और उनकी पत्नी यूज़ कर रहे हैं और मर्सिडीज़ (एमएच 48 एपी 3879) को कोई समीर भारती यूज़ कर रहा है। ठाणे में रहने वाला समीर भारती ठाणे हफ्ता विरोधी प्रकोष्ठ को क्लाइंट देता रहता है।

तब से मयूरेश और उनकी पत्नी माधुरी राऊत कारों को वापस पाने और राजकुमार कोथमिरे पर कार्रवाई के लिए दर-दर भटक रहे हैं। विरार पुलिस ने अब तक दो बार मयूरेश राऊत का स्टेटमेंट भी रिकॉर्ड किया है लेकिन कोई एक्शन नहीं लिया है।

इस समाचार से सम्बंधित समस्त दस्तावेज़ जन स्वाभिमान के पास मौजूद हैं। यह सबूत भी मौजूद है कि मर्सिडीज़ कार मयूरेश राऊत की है और राजकुमार कोथमिरे यूज़ कर रहे हैं।

5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments