हैरिसन डिमेलो

अकेला 

कल्याण (Kalyan) की खड़कपाड़ा पुलिस (Khadakpada Police) ने हरि आढ़ाव उर्फ़ हैरिसन डिमेलो (Hari Adhav alias Harrison D’mello) और उसकी पत्नी लूसी डिमेलो (Luci D’Mello) के खिलाफ चीटिंग की एफआईआर दर्ज की है। इसके पूर्व हैरिसन डिमेलो को ठाणे की कापुरबावड़ी पुलिस ने हफ्ताउगाही के आरोप में गिरफ्तार किया था। हैरिसन डिमेलो कुख्यात बीनू वर्गिस उर्फ़ काला कौआ गैंग का पंटर है।

शनिवार, 18 दिसम्बर 2021 को खड़कपाड़ा पुलिस ने सेवानिवृत्त शिक्षिका मोहिनी चौधरी (70) की शिकायत पर हैरिसन डिमेलो और उसकी पत्नी लूसी डिमेलो के खिलाफ भादंसं की धारा 420, 406, 507 और 34 के तहत एफआईआर (नंबर 385/2021) दर्ज की है। एफआईआर की प्रति एबीआई (ABI) के पास मौजूद है।

एफआईआर के अनुसार मोहिनी चौधरी कल्याण के खड़कपाड़ा में रहती हैं। वे लूड्स हाईस्कूल से वर्ष 2010 में रिटायर्ड हुई हैं और इसी स्कूल में लूसी उनकी छात्रा थी। जनवरी 2011 में लूसी मोहिनी से मिली और बताया कि उसका पति सस्ते में म्हाडा में घर दिलाता है। मालाड, बांद्रा, सायन अथवा हीरानंदानी में सस्ते में फ्लैट दिलाने के नाम पर हैरिसन डिमेलो और लूसी ने मोहिनी से 4 लाख, 60 हजार रुपये ठग लिए। मोहिनी को बाद में जब एहसास हुआ कि हैरिसन डिमेलो और लूसी डिमेलो पेशेवर चीटर हैं तो वे अपना पैसा वापस मांगने लगीं तो दोनों ने बहाना बना दिया कि उन्होंने पैसा लिया ही नहीं। फिलहाल वह ऋतु रिवरसाइड, फेज-1, बिल्डिंग नंबर-3-ए, रूम नंबर 1306, गांधारी रोड, कल्याण (पश्चिम) में रहता था। इसके पूर्व वह अपना ठिकाना कई बार बदल चुका था। समाजसेविका रानी गिल की मदद से मोहिनी चौधरी ने हैरिसन डिमेलो और लूसी डिमेलो के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी।

हैरिसन डिमेलो को ठाणे की कापुरबावड़ी पुलिस ने स्पा संचालिका कविता पवार से हफ्ता मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ भादंसं की धारा 385, 389 और 500 के तहत एफआईआर (नंबर 280/2021) दर्ज है।

हैरिसन डिमेलो की पहचान रेती माफिया के तौर पर है। एसबीटी न्यूज़ (SBT News) नाम से वह न्यूज़ पोर्टल चलाता था। इसी की बदौलत वह पुलिस का दलाल बन गया था। वह बीनू वर्गिस उर्फ़ काला कौआ (Kala Kauaa) गैंग का मेंबर था। काला कौआ (Black Crow) भी हफ्ताउगाही के मामले में फरार चल रहा है। काला कौआ गैंग में हैरिसन डिमेलो के अलावा जसपालसिंह वालिया उर्फ़ लवली (Jaspalsingh Walia alias Lovely), योगेश मुंदड़ा (Yogesh Mundada), इंस्पेक्टर राजकुमार कोथमिरे (Inspector Rajkumar Kothmire),  इंस्पेक्टर मदन बल्लाल, सहायक आयुक्त अमर देसाई, पुलिस उपायुक्त अविनाश अंबुरे (DCP Avinash Ambure), वेश्या दलाल किरण शाह (Kiran Shah) और बहुत से लोग शामिल थे। इन लोगों ने ठाणे जिले में हफ्ताउगाही का बड़ा रैकेट खड़ा कर दिया था।

4.8 11 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments