Deven Bharti

अकेला 

भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के महाराष्ट्र कैडर के अधिकारी देवेन भारती (Deven Bharti) से भयाक्रांत सेवानिवृत्त पुलिस निरीक्षक दीपक कुरुलकर (Deepak Kurulkar) ने पुलिस सुरक्षा (Police Protection) की मांग की है। दीपक कुरुलकर देवेन भारती को गैंगस्टर (Gangster) मानते हैं और अपने परिवार को भी सुरक्षा दिए जाने की मांग करते हैं।

27 दिसम्बर 2021 को पुलिस महानिदेशक संजय पांडेय को पत्र लिखकर दीपक कुरुलकर ने खुद और अपने परिवार को पुलिस सुरक्षा दिए जाने की मांग की है। कुरुलकर ने अपने वकील नितिन सातपुते और अरुणा चौधरी के साथ संजय पांडेय से मुलाकात भी की। इसके पूर्व कुरुलकर संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मिलिंद भारम्बे से भी मिलकर देवेन भारती से आसन्न खतरे की आशंका जता चुके हैं।

दीपक कुरुलकर

दीपक कुरुलकर मुंबई पुलिस के सेवानिवृत्त वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक हैं। वे ठाणे जिले के कल्याण शहर में रहते हैं। दीपक कुरुलकर की ही शिकायत पर देवेन भारती, सेवानिवृत्त सहायक आयुक्त दीपक फटांगरे और बांग्लादेशी महिला रेशमा खान के खिलाफ 10 दिसम्बर 2021 को मालवणी पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज हुई है। इस मामले की जांच अब क्राइम ब्रांच की यूनिट सीआईयू कर रही है। अब एक नई जानकारी मिली है कि रेशमा खान बांग्लादेशी के बजाय पाकिस्तानी नागरिक है। इसलिए मामला और गंभीर हो जाता है। भविष्य में रेशमा खान के पति हाजी हैदर खान और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को भी इस मामले में आरोपी बनाया जा सकता है।

दीपक कुरुलकर का कहना है कि वे मुंबई पुलिस के ख़ुफ़िया विभाग से जुड़े थे इसलिए उन्हें मालूम है कि देवेन भारती ने पुलिस विभाग या मुंबई की जनता के लिए कम अंडरवर्ल्ड के लिए ज़्यादा काम किया है। तब के मुंबई पुलिस कमिश्नर संजय बर्वे ने महाराष्ट्र गृह विभाग को लिखित रिपोर्ट दी थी कि देवेन भारती मुंबई पुलिस और मुंबई की जनता के लिए खतरा है। वर्तमान पुलिस महानिदेशक संजय पांडेय ने भी गृह विभाग को इस आशय की रिपोर्ट दी है कि देवेन भारती समानान्तर अंडरवर्ल्ड चलाता है। मुंबई पुलिस में रहते हुए सहायक आयुक्त राजेंद्र त्रिवेदी ने गृह विभाग को इस बात के सुबूत दिए थे कि देवेन भारती गैंगस्टर, ऑयल माफिया, ऑक्ट्रॉय माफिया, मटका माफिया आदि को प्रोटेक्ट करता है। त्रिवेदी ने देवेन भारती के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में रिट पिटीशन भी फाइल की है। इतना ही नहीं अंडरवर्ल्ड सरगना एजाज़ लकड़वाला देवेन भारती को अपना ‘बॉस’ कहकर सम्बोधित करता है। एजाज़ लकड़वाला बताता है कि देवेन भारती जिस बिजनेसमैन का नंबर देता था उसी से वह हफ्ता मांगता था।

हद है कि पुलिस महानिदेशक स्तर के दो-दो अधिकारियों की रिपोर्ट पर भी महाराष्ट्र सरकार ने देवेन भारती पर कोई कार्रवाई नहीं की। बल्कि उसे संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व व्यवस्था) और आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) जैसे गंभीर पद पर बैठाये रखा। अभी वह महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा महामण्डल का इंचार्ज है।

दीपक कुरुलकर इसी बात से भयभीत हैं कि देवेन भारती अंडरवर्ल्ड सरगना है और बदले की भावना से उनको अथवा उनके परिवार को हानि पहुंचा सकता है। इसलिए उन्हें पुलिस सुरक्षा दी जाये।

संजय बर्वे, संजय पांडेय की रिपोर्ट, राजेंद्र त्रिवेदी के सुबूत, एजाज़ लकड़वाला का कुबूलनामा और दीपक कुरुलकर का पत्र एबीआई (abinet.org) के पास मौजूद हैं।

3.9 9 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments