कोरोना संकट काल में विक्रोली मुंबई में धार्मिक सद्भावना बिगाड़ने की कोशिश, पुलिस अपराधियों को गिरफ्तार करने में नाकाम

1
Shivsena MLA Sunil Raut with Mohammad Raffiq Manna Khan urf Bablu

कोरोना की वजह से पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है।  लोगों का जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है।  रोजी – रोटी के साधन बंद पड़े हैं।  आम जनता और सरकार दोनों ही हैरान परेशान है।  ऐसे संकट काल में जब लोग अपने जीवन को लेकर संघर्षरत है , कुछ असामाजिक तत्त्व धार्मिक सद्भाव को बिगाड़ने में लगे हुए हैं।

विक्रोली पश्चिम, मुंबई के सूर्यनगर इलाके में ईस्लामपुरा, नूरानी मस्जिद के सदर रफीक मन्ना खान उर्फ़ बबलू ने अप्रैल माह में स्वामी यति नरसिंहानंद सरस्वती महाराज के पोस्टर पर गंदे शब्द लिखकर उन्हें सार्वजनिक शौचालय के अंदर से नूरानी मस्जिद के सीढ़ियों तक चिपका दिया।  यह घटना जानबूझकर रामनवमी के आस पास की गयी थी ताकि हिन्दुओ की भावनाओं को चोट पहुँचाया जाए।  सोनू नाम के युवक ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी। बजरंग दल, विश्व हिन्दू परिषद्, आरएसएस की शिकायत पर पुलिस द्वारा FIR भी दर्ज किया गया। बजरंग दल  के पंकज लाड, भाजपा के कार्यकर्ता सुधीर सिंह, आरएसएस के सत्येंद्र सिंह के लगातार प्रयत्नों से पुलिस ने जाँच तो शुरू की  लेकिन जाँच में जैसे ही नूरानी मस्जिद के सदर रफीक मन्ना खान उर्फ़ बबलू का नाम आया,  वैसे ही पुलिस को साँप सूंघ गया।  तब से आज तक एक माह हो गया लेकिन पुलिस ने किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया।  जबकि पुलिस के पास सारे आरोपियों की पूरी जानकारी है।

नूरानी मस्जिद के सदर रफीक मन्ना खान उर्फ़ बबलू विक्रोली में बहुत कुख्यात है।  इनके ऊपर पुलिस स्टेशन में कई FIR पहले से दर्ज है।  अपराधी किस्म का व्यक्ति हैं।  विक्रोली पश्चिम में धार्मिक सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश वो पहले भी कई बार कर चुका है।  शिव भोले लघु उद्योग नामक गली का नामकरण इस्लामपुरा करने की कोशिश उसने कुछ वर्षों पहले की थी।  मामला इतना बिगड़ा कि पुलिस को दखल देना पड़ा और BMC को आकर उसका ” WELCOME TO ISLAMPURA  ” नामक बोर्ड उखाड़ना पड़ा।  उस समय भी पुलिस या BMC ने बबलू के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं की।  जिसका नतीजा यह है कि अब उसकी अपराध करने की हिम्मत बढ़ती जा रही है।

नूरानी मस्जिद का सदर होने के कारण बबलू का स्थानीय इलाके में प्रभाव है।  मस्जिद के पास कई गैरकानूनी निर्माण करा चुका है लेकिन पुलिस और BMC उन्हें छूती तक नहीं। शिवसेना के स्थानीय विधायक सुनील राउत के साथ बबलू के बड़े अच्छे संबंध हैं। इस बात का ऐसा प्रभाव है कि ऐसे अपराधी प्रवृत्ति के व्यक्ति के विरुद्ध पुलिस कुछ नहीं कर पा रही है। जबकि पूरे अपराध में उसका हाथ होना साफ़ दिख रहा है।

घटना के बाद से पुलिस की निष्क्रियता देखकर स्थानीय सांसद मनोज कोटक ने पार्क साइट पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक जुबेदा शेख से फ़ोन पर बात की और अपराधियों पर कार्रवाई करने को कहा। भाजपा के मुंबई अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा ने भी प्रशांत कदम, डी सी पी (जोन 7) को पत्र लिखकर आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए कहा है।  पर किसी कारणवश जुबेदा शेख ऐसा करने में असमर्थ हैं। अपराधी अब भी खुले आम सूर्यनगर, विक्रोली में घूम रहे हैं और अपने करतूत की डींगे मार रहे हैं। पुलिस का यह निकम्मापन उनकी हिम्मत बढ़ा चुका है। भविष्य में वो और क्या अपराध अंजाम दे, किसको पता !

letter by BJP MLA Mangal Prabhat Lodha, President, BJP (Mumbai Pradesh)
4.3 3 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
कदम
कदम
1 month ago

दोशीयोंको सजा होनी चाहिए