अकेला

कल्याण (पश्चिम) की सबसे विवादित इमारत बन चुकी मोहन अल्टिज़ा (Mohan Altezza) के खिलाफ संयुक्त जिला निबंधक वर्ग-1 तथा मुन्द्रांक जिलाधिकारी, ठाणे शहर ने जांच का आदेश दिया है। बॉम्बे उच्च न्यायालय (Bombay High Court) में रिट पिटीशन (Writ Petition) भी लंबित है। इस बाबत राष्ट्र कल्याण पार्टी (राकपा) ने जनता से फिर निवेदन किया है कि जबतक कोई फैसला नहीं आ जाता मोहन अल्टिज़ा में फ्लैट न खरीदें। (Request : do not buy flat in Mohan Altezza-RKP).

11 अक्टूबर 2021 को राकपा के महासचिव राहुल काटकर (Rahul Katkar) ने कडोमपा आयुक्त, पुलिस उपायुक्त, संयुक्त जिला निबंधक वर्ग-1 और मुख्य अभियंता, महाराष्ट्र राज्य विद्युत महामण्डल को पत्र लिखकर मोहन अल्टिज़ा के खिलाफ जांच करने और उचित कार्रवाई करने की मांग की थी। राकपा की शिकायत पर संयुक्त जिला निबंधक वर्ग-1 तथा मुन्द्रांक जिलाधिकारी, ठाणे शहर ने संज्ञान लेते हुए संयुक्त दुय्यम निबंधक वर्ग-1, कल्याण क्रमांक- 1 से 5 को पत्र लिखकर मोहन अल्टिज़ा (Mohan Altezza) के खिलाफ जांच करने और उचित कार्रवाई (action) करने का आदेश दिया है। 1 नवम्बर 2021 को लिखे इस आशय का पत्र एबीआई (Akela Bureau Of Investigation) के पास मौजूद है।

मोहन अल्टिज़ा कल्याण (पश्चिम), जिला ठाणे में गन्धारे गांव में 11 लाख वर्ग फुट में विकसित है। इस प्रोजेक्ट में 28-28 मंजिल की तीन इमारतें हैं। इसमें कुल 350 फ्लैट्स हैं। इसे मे. लाइफ स्पेसेस एलएलपी (मोहन ग्रुप) के चेयरमैन जीतेन्द्र लालचंदानी (Jeetendra Lalchandani) ने विकसित किया है। मोहन अल्टिज़ा इमारत पूरी तरह अवैध है। (Mohan Altezza is fully illegal). जीतेन्द्र लालचंदानी ने इमारत बनाते समय किसी भी रूल्स/रेगुलेशंस का पालन नहीं किया है। पुलिस और कडोमपा अधिकारियों को खरीदकर इमारत बना ली। पुलिस के एक बड़े अधिकारी ने अपनी साली के नाम फ्लैट रजिस्टर्ड कराया है। (A top police officer purchased a flat in his sister-in-law’s name).

एबीआई ने जनता को सबसे पहले बताया कि मोहन अल्टिज़ा अवैध इमारत साबित हो गयी है। कडोमपा ने ही रिवाइज्ड प्लान रिजेक्ट कर दिया है। एबीआई के पास इस बात के प्रमाण हैं कि बावजूद इसके पिछले माह 18 लोगों ने फ्लैट रजिस्टर्ड कराये।

“कल्याण-डोम्बिवली महापालिका (कडोमपा) के अधिकारी तो रिश्वतखोरी के लिए बदनाम हैं। वे इमारत और बिल्डर जीतेन्द्र लालचंदानी पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। राकपा की शिकायत को कडोमपा अधिकारी हल्के से ले रहे हैं। वक्त आने पर राकपा कार्यकर्ता टाउन प्लानिंग डिपार्टमेंट के अधिकारियों की पिटाई कर सकते हैं। कडोमपा आयुक्त डॉ. विजय सूर्यवंशी के मुंह पर कालिख पोत सकते हैं। और, और बहुत कुछ कर सकते हैं। हम जनता से फिर निवेदन कर रहे हैं कि जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती मोहन अल्टिज़ा में फ्लैट न खरीदें,” कहते हैं राकपा अध्यक्ष शैलेश तिवारी। Happy Diwali.

4.3 4 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
जमाल अहमद खान
जमाल अहमद खान
6 months ago

राकपा बेस्ट ऑफ लक

Siddhant Gade
Siddhant Gade
6 months ago

Very blasting news sir ji congratulations