नीलम बोड़ारे

अकेला

नीलम कदम-बोडारे-शेजवल (Neelam Chandrakant Kadam- Bodare-Shejwal) पर कार्रवाई का श्रीगणेश हो गया है। उल्हासनगर महापालिका प्रशासन ने नीलम बोडारे को कारण बताओ नोटिस (Show Cause Notice) जारी कर उनसे जवाब/स्पष्टीकरण माँगा है। संतोषजनक जवाब न दे पाने की स्थिति में उन्हें निलंबित भी किया जा सकता है।

अतिरिक्त आयुक्त करुणा जुइकर (Additional Commissioner Karuna Juikar) ने नीलम बोडारे को कारण बताओ नोटिस जारी की है। महापालिका के एक अधिकारी ने एबीआई (ABI) से बातचीत में इस बात की पुष्टि की है।

नीलम बोडारे आजकल उल्हासनगर शहर की सबसे चर्चित महिला बनी हुई हैं। वह उल्हासनगर महापालिका में उप लेखा अधिकारी पद पर आसीन हैं। उनकी नियुक्ति अवैध है। पदोन्नति अवैध है। जिस पद पर हैं वह अवैध है। 12वीं और बी. कॉम की डिग्रियां फर्जी हैं। क्लर्क से कुबेर बनने की उत्तम उदाहरण हैं। उनका 300 करोड़ रुपये के टर्नओवर और 150 करोड़ की सम्पत्तियों (नामी/बेनामी) का पता चला है। बालासाहब की शिवसेना पार्टी के वरिष्ठ नगरसेवक राजेन्द्रसिंह भुल्लर (महाराज) Rajendrasingh Bhullar (Maharaj)) ने इस बाबत नीलम बोडारे के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ED), आयकर विभाग (I-T, भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) सहित कई सम्बंधित सरकारी विभागों में शिकायतें की हैं। भुल्लर महाराज (Bhullar Maharaj) ने शिकायत से सम्बंधित सभी डॉक्युमेंट्स भी दिए हैं। एबीआई के भी पास इस बात के प्रमाण मौजूद हैं। (ABI is in possession of all proof/documents related to Neelam Bodare’s corruption).

भुल्लर महाराज की शिकायतों से बौखलाई नीलम बोडारे (Neelam Bodare) ने एक लोकल यू-ट्यूबर को इंटरव्यू देकर अपना पक्ष रखा। इसे कहते हैं उल्टा चोर कोतवाल को डांटे। नीलम बोडारे ने इंटरव्यू में भुल्लर महाराज को धमकी भी दी कि वह उनके खिलाफ मानहानि का केस करेंगी। (Neelam Bodare threatened Bhullar Maharaj for defamation case). नीलम का यह कदम प्रशासनिक कायदे के विपरीत था। मतलब इंटरव्यू भी अवैध था। इस बाबत भुल्लर महाराज ने नीलम बोडारे के खिलाफ महापालिका आयुक्त अज़ीज़ शेख से शिकायत कर दी। इस पर आयुक्त के निर्देश पर प्रशासन ने नीलम बोडारे को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया।

कहते हैं कि जब इंसान के पास ज़्यादा पैसा आ जाता है तो उसकी अक्ल घास चरने चली जाती है। नीलम के चाचा धनंजय बोडारे (Uncle Dhananjay Bodare) अभी भी लोगों से यह कहते फिर रहे हैं कि हाँ, नीलम ने 300 करोड़ रुपये कमाए हैं। धनंजय इस काली कमाई को जस्टिफाई करते हुए कहते हैं कि जब एक ऑटो रिक्शा चलाने वाला मुख्यमंत्री बन सकता है तो नीलम 300 करोड़ क्यों नहीं कमा सकती। महाराष्ट्र के वर्तमान मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे राजनीति में आने से पहले ठाणे शहर में आटो रिक्शा चलाते थे। यह बात धनंजय को हज़म नहीं हो रही है।

4.2 6 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments